Home »Economy »Taxation» IT Dept Starts Countrywide Raids Against Petrol Pump Owners, LPG Distributors Over Illegal Conversion Of 500-1000 Notes

देशभर के पेट्रोल पंपों पर IT की रेड, नोटबंदी में 15% एक्स्ट्रा रकम जमा करने का शक

नई दिल्‍ली.  नोटबंदी के दौरान लोगों की ब्‍लैकमनी को व्‍हाइट करने के शक में इनकम टैक्‍स (आईटी) डिपार्टमेंट ने देशभर के पेट्रोल पंपों और LPG डिस्‍ट्रीब्‍यूटर्स के यहां छापेमारी शुरू कर दी है। बता दें कि नोटबंदी के दौरान पेट्रोल पंपों और LPG डिस्‍ट्रीब्‍यूटर्स के यहां बंद नोट चलाने की इजाजत थी। आईटी अफसरों को शक है कि पेट्रोल पंप ओनर्स ने इस छूट की आड़ में लोगों की ब्‍लैकमनी को व्‍हाइट किया। कैशबुक की हो रही जांच...

- मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आईटी एक्ट के सेक्‍शन 133A के तहत यह कार्रवाई हो रही है। इसके तहत पंप ओनर्स की कैशबुक की छानबीन की जा रही है।
- आईटी अफसर यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि नोटबंदी के दौरान पेट्रोल पंप मालिकों की ओर से  किया गया बैंक डिपॉजिट उनकी सेल्‍स से मेल खा रहा है या नहीं।
 
पेट्रोल पंपों ने जमा की 15% एक्‍स्‍ट्रा रकम
- कुछ आईटी अफसरों ने इसे रूटीन सर्वे बताया है। उनका कहना है कि यह रेड नहीं है।
- अफसरों के मुताबिक, ये सर्वे देशभर के पेट्रोल पंप ओनर्स और LPG डिस्‍ट्रीब्‍यूटर्स के कैम्पस में 6 मार्च से किए जा रहे हैं। 
- एक अफसर ने बताया, "सर्वे से पता चला है कि नोटबंदी के दौरान पेट्रोल पंप ओनर्स ने एवरेज सेल्‍स से 15% ज्यादा रकम जमा कराई है।"
- "हमने सरकारी ऑयल कंपनियों से डाटा मांगा है, ताकि एक्‍स्‍ट्रा डिपॉजिट की ठीक से छानबीन हो सके।"
- "इससे पहले आईटी सर्वे में पाया गया था कि पेट्रोल पंप ओनर्स ने नोटबंदी के दौरान एक्‍चुअल सेल्‍स से 20% एक्‍स्‍ट्रा रकम डिपॉजिट की है।"
 
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत कार्रवाई  
- अगर पेट्रोल पंप और गैस डिस्ट्रीब्यूटर्स के यहां से नोटबंदी के दौरान सेल्‍स से ज्‍यादा डिपॉजिट करने की बात सामने आ रही है, तो उनके ओनर्स के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। 
- उनसे प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना के तहत टैक्‍स और 49.90% की पेनल्‍टी वसूली जा रही है।
- अगर पेट्रोल पंप ओनर दावा करते हैं कि जमा किया गया एक्‍स्‍ट्रा डिपॉजिट उन्हें पुराने पेमेंट या बकाया रकम के रूप में मिला है तो भी आईटी अफसर इसे इलीगल मान रहे हैं।
 
ब्‍लैक को व्‍हाइट करने की आई थीं खबरें
- बता दें कि नोटबंदी के दौरान ऐसी खबरें आई थीं कि पेट्रोल पंप ओनर्स और LPG डिस्‍ट्रीब्‍यूटर्स 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों को गलत तरीके से बदल रहे हैं।
- साथ ही, इन लोगों की ओर से बैंक में जमा कराई गई करंसी उस दौरान हुई बिक्री से ज्‍यादा पाई गई थी।
- आईटी डिपार्टमेंट ने इसी को देखते हुए यह कार्रवाई की है। आईटी डिपार्टमेंट नोटबंदी के दौरान तय से ज्‍यादा कैश जमा कराने पर कई लोगों को नोटिस भेज चुका है।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY