Home »Economy »Policy» Good Governance Of Amma Will Continue Says O Panneerselvam

शशिकला ने पन्‍नीरसेल्‍वम को पार्टी से निकाला, पलानिसामी को बनाया पार्टी का नेता

 
नई दिल्‍ली. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शशिकला ने पन्‍नीरसेल्‍वम को पार्टी से निकाल दिया है। उनकी जगह ईके पलानिसामी को विधायक दल का नेता नियुक्‍त किया है। सुपीम कोर्ट ने शशिकला को डीए केस में दोषी ठहराते हुए ट्रायल कोर्ट की 4 साल जेल सजा की सजा को बरकरार रखा है। शशिकला को अब सरेंडर करना होगा। शशिकला एआईएडीएमके की जनरल सेक्रेटरी हैं। 
 
 
- सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद  वीके शशिकला नटराजन ने पन्‍नीरसेल्वम की एआईएडीएमके की प्राथमिक सदस्‍यता बर्खास्‍त कर दी है। इससे लग रहा है कि शशिकला एक्टिंग सीएम पन्नीरसेल्वम के हाथ में किसी भी कीमत पर सत्ता नहीं जाने देना चाहतीं।
- सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद गिरफ्तारी की तलवार लटकने के बावजूद वह रिजॉर्ट में ठहरे 100 से अधिक विधायकों के साथ बैठक करने लगीं। इस मीटिंग में आगे की स्‍ट्रैटजी तय की।
- शशिकला ने मीटिंग के फौरन बाद पन्नीरसेल्वम की पार्टी की प्राथमिक सदस्यता खत्म करने का एलान कर दिया गया। वहीं, ई पलानीसामी को विधायक दल का नेता चुन लिया गया।
- मीटिंग में शशिकला के वफादार विधायकों के अलावा परिवार के सदस्य भी शामिल हुए। इनमें जयललिता के भतीजे दीपक जयकुमार भी शामिल हुए।
 
पलानिसामी ने गवर्नर को लेटर भेजा
- एआईएडीएमके विधायक दल के नवनियुक्‍त नेता पलानिसामी ने कहा कि उन्‍होंने गर्वनर को लेटर भेजा है। उनके जवाब का इंतजार है।
- एआईएडीएमके के अनुसार, गवर्नर को भेजे गए लेटर पर पलानिसामी का सपोर्ट करने विधायकों के दस्‍तखत हैं।
- पलानिसामी ने कहा, ‘‘सभी विधायकों ने मुझे विधायक दल का नेता चुना है। विधायकों के समर्थन पत्र के साथ हम जल्‍द गवर्नर से मुलाकात करेंगे।’’  
 
पन्‍नीरसेल्‍वम ने क्‍या कहा?
- ओ. पन्‍नीरसेल्‍वम ने कहा, ‘‘मुझे सपोर्ट जारी रखने के लिए मैं लाखों लोगों का धन्‍यवाद करता हूं। अम्‍मा का गुड गवर्नेंस जारी रहेगा।’’
- पन्‍नीरसेल्‍वम ने कहा, ‘‘बिना किसी दूसरी पार्टी के सपोर्ट हमारी सरकार बनी रहेगी।’’
 
डीएमके नेता ने कहा- गवर्नर उठाए कदम  
- शशिकला पर फैसला आने के बाद डीएमके नेता एमके स्‍टालिन ने कहा, ‘‘गवर्नर से गुजारिश है कि वह राज्‍य में स्थिर सरकार के लिए कदम उठाएं।’’
- स्‍टालिन ने कहा, ‘’21 साल के बाद न्‍याय हुआ है। यह इस बात का उदाहरण है कि राजनेताओं को भ्रष्‍टाचार मुक्‍त रहना होगा।’’  
 
जयललिता के करीबी माने जाते हैं पलानीसामी
- ईके पलानीसामी को जयललिता का बेहद करीबी माना जाता है। वह वेस्‍टर्न रीजन के बड़े एआईएडीएमके नेता माने जाते हैं।
- पलानीसामी को बादी विधायक सपोर्ट करते हैं या नहीं अब इस पर सबकी नजर रहेगी। 
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY