Home »Economy »International» Applications For H1-B To Be Accepted From April 3

एच1-बी वीजा के लिए 3 अप्रैल से दें एप्लिकेशन, USCIS ने की घोषणा

एच1-बी वीजा के लिए 3 अप्रैल से दें एप्लिकेशन, USCIS ने की घोषणा
वाशिंगटन। एच1-बी वीजा प्रोग्राम को लेकर चल रही बहस के बीच इसके लिए अप्‍लाई करने की तारीख की घोषणा कर दी गई है। यूएस अम्‍बेसी 3 अप्रैल से वित्‍तीय वर्ष 2018 के लिए एच1-बी वीजा एप्लिकेशन लेना शुरू करेगा। अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रम्‍प इस वीजा प्रोग्राम के नियम कड़े करने की पक्ष में हैं। वह विदेशियों को जॉब देने के मुकाबले अमेरिकियों को प्राथमिकता देने की पैरवी कर रहे हैं।   
 
एप्लिकेशन की लास्‍ट डेट की नहीं हुई है घोषणा
 
इंडियन आईटी प्रोफेशनल्‍स बड़ी संख्‍या में इस एच1-बी वीजा प्रोग्राम के लिए अप्‍लाई करते हैं। यूएस सिटी‍जनशिप एंड इमिग्रेशन सर्विसेज (USCIS)  ने तारीख की घोषणा की है। हालांकि इस बार ये नहीं बताया गया है कि एप्लिकेशन देने की आखिरी तारीख कब तक है। इससे पहले डिपार्टमेंट सामान्‍य तौर पर हफ्ते के शुरुआती 5 दिन एप्लिकेशन लेता था। पिछले कुछ सालों के भीतर डिपार्टमेंट को इतनी एप्लिकेशन मिल चुकी हैं, कि वह 85 हजार एप्लिकेशन के टारगेट को पूरा करने के करीब है। यह टारगेट अमेरिकी संसद कांग्रेस ने तय किया है।
 
प्रीमियम प्रोसेसिंग प्रक्रिया न होने से मुश्किल
 
मास्‍टर्स और हायर डिग्री के लिए यूएस जाने के इच्‍छुक स्‍टूडेंट्स को भी एच1-बी वीजा दिया जाता है। इसमें जनरल कैटेगरी के लिए 65 हजार एप्लिकेशन रखी गई हैं। जबकि 20 हजार विदेशी छात्रों की खातिर तय की गई हैं। हालांकि रिसर्च और साइंटिफिक इंस्‍टीट्यूशंस जैसे कैटेगरीज के तहत यहां आने वाले स्‍टूडेंट्स इस लिमिट में शामिल नहीं होते। हालांकि उनकी वीजा प्रक्रिया को इस बार काफी जटिल किया गया है। क्‍योंकि प्रीमियम प्रोसेसिंग की प्रक्रिया को 6 महीने के लिए सस्‍पेंड कर दिया गया है। यूएससीआईएस ने कहा कि वह 3 अप्रैल से एच-1बी पेटीशंस स्‍वीकार करना शुरू करेगा। वित्‍तीय वर्ष 2018 की शुरुआत 1 अक्‍टूबर, 2017 से शुरू हो रहा है।
 
USCIS ने की थी घोषणा
 
भारतीय IT प्रोफेशनल्‍स को बड़ा झटका देते हुए अमेरिका ने H-1B वीजा की प्रीमियम प्रोसेसिंग 3 अप्रैल से रोकने की घोषणा की थी। इसके चलते इंडियन प्रोफेशनल्स को H-1B वीजा मिलने में ज्‍यादा वक्त लगेगा। अमेरिकी सिटिजनशिप एंड इमिग्रेशन सर्विस (USCIS) ने इस बात की घोषणा की थी। हालांकि USCIS का दावा है कि H-1B वीजा की प्रीमियम सर्विस को सस्‍पेंड करने से सामान्‍य वीजा की प्रोसेसिंग कम वक्त लगेगा।
 
ट्रम्‍प वीजा प्रोग्राम के नियम कड़ा करने के पक्ष में
 
यूएस प्रेसिडेंट डोनाल्‍ड ट्रम्‍प एच1-बी वीजा प्रोग्राम कड़ा करने के पक्ष में हैं। वह इमिग्रेशन रिफॉर्म से जुड़े एग्‍जीक्‍यूटिव ऑर्डर पर दस्‍तखत कर चुके हैं। H1B वीजा से जुड़ा एक बिल भी अमेरिकी संसद में पेश हो चुका है। H1B वीजा धारकों के मिनिमम वेज को बढ़ाकर 1.30 लाख डॉलर करने का प्रावधान इसमें किया गया है।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY