Home »Economy »Foreign Trade» H1-B Programme Has Been Re-Introduced In The US Congress

अमेरि‍का में सख्‍त होंगे एच-1बी वीजा के नि‍यम, संसद में दोबारा कि‍या पेश

अमेरि‍का में सख्‍त होंगे एच-1बी वीजा के नि‍यम, संसद में दोबारा कि‍या पेश
 
नई दि‍ल्‍ली। भारत जैसे देशों से स्‍कि‍ल्‍ड वर्कर्स को अमेरि‍का में हाई टेक जॉब्‍स करने की मंजूरी देने वाले एच-1बी प्रोग्राम को अहम बदलावों के साथ दोबारा पेश कि‍या गया है। इस प्रोग्राम को दो सांसदों ने अमेरि‍की कांग्रेस में फि‍र पेश कि‍या है। इन सांसदों का कहना है कि इससे कार्य वीजा के दुरुपयोग को रोकने में मदद मिलेगी।
 
रिपब्लिकन डैरेल इसा तथा स्कॉट पीटर्स ने कल ‘प्रोटेक्ट एंड ग्रो अमेरिकन जॉब्स एक्ट’ विधेयक दोबारा पेश किया है। इसमें एच1-बी वीजा के लिए पात्रता की महत्वपूर्ण बदलावों का प्रस्ताव है।
 
इस विधेयक में एच-1बी वीजा का न्यूनतम वेतन 1 लाख डॉलर सालाना तथा मास्टर डिग्री की छूट को समाप्त करने का प्रस्ताव है। इन सांसदों का कहना है कि इस विधेयक से एच-1बी वीजा का दुरुपयोग रोका जा सकेगा और इससे यह भी सुनिश्चित होगा कि नौकरियां दुनिया की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभाओं को उपलब्ध हों।
 
कई कंपनियों मसलन डिज्नी, सोकाल एडिसन तथा अन्य पर एच1-बी वीजा कार्यक्रम के दुरुपयोग तथा अमेरिकी पेशेवरों के स्थान पर विदेशियों की नियुक्तियों का आरोप लग रहा है जिसके बाद यह विधेयक पेश किया गया है।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY