Home »Economy »Banking» Cash Is The Biggest Facilitator Of Crime Says Arun Jaitley In Lok Sabha

टैक्‍स चोरी रोकने के लिए कैश ट्रांजैक्‍शन कम करने की जरूरत: अरुण जेटली

नई दिल्‍ली. वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में कहा कि टैक्‍स चोरी रोकने के लिए कैश ट्रांजैक्‍शन को कम करने की जरूरत है। हमारी इकोनॉमी कैश ट्रांजैक्‍शन काफी ज्‍यादा है। इससे टैक्‍स चोरी और करप्‍शन बढ़ता है। साथ ही इससे एक समानंतर इकोनॉमी भी चलती है। जेटली ने यह भी कहा कि जीएसटी से जुड़े कई विवादास्‍पद मसलों को सर्वसम्‍मति से सुलझा लिया गया है। 
 
- जेटली ने कहा, ‘‘यदि आप एक कैशलेस सोसायटी है तो भी अपराध खत्‍म नहीं होगा लेकिन कैश से क्राइम को सबसे ज्‍यादा बढ़ावा मिलता है।’’
- ‘‘महंगाई के लिए रिजर्व बैंक ने 4 फीसदी का टारगेट रखा है। अभी महंगाई 3.6 फीसदी के लेवल पर है।’’
- जेटली ने लोकसभा में बताया कि इन्‍फ्रा के लिए 3.69 लाख करोड़ और रेलवे सेफ्टी फंड के लिए 1 लाख करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं।  
- वित्‍त मंत्री की स्‍पीच के बाद स्‍पीकर ने लोक सभा को 9 मार्च सुबह 11 बजे तक के लिए स्‍थगित कर दी।  
 
#नोटबंदी पर जेटली
- जेटली ने लोकसभा में कहा, ‘‘नोटबंदी के बाद आरबीआई के पास लाखों-करोड़ों रुपए वापस आए हैं। इनकी गिनती जारी है। इसका डाटा तैयार किया गया है।’’
- ‘‘नोटबंदी के बाद कारों की बिक्री बढ़ी लेकिन टू-व्‍हीलर की सेल में गिरावट आई।’’  
 
#GST पर जेटली 
- जेटली ने कहा, ''जीएसटी से जुड़े कई विवादास्‍पद मसलों को सर्वसम्‍मति से सुलझा लिया गया है।''
- ‘‘जीएसटी लागू होने के बाद देश के पास बेहतर और मजबूत टैक्‍स सिस्‍टम होगा।’’
 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY