Home »Experts »Taxation» RBI Has Decided To Modify The Guidelines For Import Of Gold

सोने से जुड़े दिशानिर्देशों को आरबीआई ने किया पुर्नगठित

सोने से जुड़े दिशानिर्देशों को आरबीआई ने किया पुर्नगठित
ज्वैलर्स, बुलियन डीलर्स, एडी बैंक सहित ट्रेड संगठनों के प्रतिनिधियों ने आरबीआई से सोने के 
आयात को लेकर बनाए गए दिशानिर्देंशों को पुर्नगठित करने की मांग की है। इसके बाद आरबीआई ने सोने के आयात से जुड़े दिशानिर्देंशों को पुर्नगठित करने का फैसला लिया है। इन 
पुनर्गठित दिशानिर्देंशों को तत्‍काल प्रभाव से प्रभावी कर दिया गया है। इस फैसले के बाद स्टार 
टैडिंग हाउसेज/प्रीमियर ट्रैडिंग हाउसेज (एसटीएच/पीटीएच) जिन्हें डायरेक्टर जनरल ऑफ 
फॉरेन ट्रेड (डीजीएफटी) ने चयनित किया है, वे अब सोने को 20: 80 योजना के आधार पर 
आयात करेंगे जिसमें इन शर्तों में ध्यान रखना होगा।
 
1 एसटीएच/पीटीएच को  सोने का आयात 20:80 योजना के हिसाब से करना चाहिए। इसके लिए उन्हें अलग-अलग बंदरगाहों पर आने वाले सोने के कंसाइनमेंट को लेने से पहले डिपार्टमेंट ऑफ कस्टम्स से अनुमति लेनी होगी। 
 
2  सोने का जो पहला लॉट जो इस योजना के तहत आयात होगा वो बीते दो वर्षों में सर्वाधिक 
मासिक आयात पर आधारित होगा। आरबीआई की 14 अगस्त 2013 की अधिसूचना के हिसाब 
से सोने का अधिकतम 2 हजार किग्रा. तक आयात हो सकता है।
 
3 बाकी चयनित एजेंसियों के मामले में, एसटीएम/पीटीएच किसी भी बंदरगाह पर अधिकतम सीमा तक की अनुमति दे सकती है।
 
4 आयात से पहले उन्हें अपनी समग्र योजना, बंदरगाह और गुणवत्ता आधारित आयात प्लान  
संबंधित कस्टम्स कार्यालय को भेजना होगा। यहां पर उनकी पिछली गतिविधियों की जानकारी को जांचा-परखा जाएगा। इस सूचना को बाकी बंदरगाहों के साथ साझा किया जाएगा जहां उनके द्वारा सोने का आयात किया जा रहा है। नए कंसाइनमेंट को ऑर्डर करने से पहले कुल आयात का 20 प्रतिशत निर्यात की शर्त जो कि आम आयातक पर लागू होती है वही शर्त एसटी एच/पीटीएच आयातकों पर भी लागू होगी।
 
5 आरबीआई ने चयनित बैंकों के घरेलू आयात कोटे के 80 फीसदी से लेकर उनके खातों में गोल्ड मैटल लोन की आउटस्टेडिंग तक स्थानीय आभूषण निर्माताओं को गोल्ड मैटल लोन देने का फैसला किया है।
 
इन दिशानिर्देंशों को फॉर्रेन एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट, 1999 (42 ऑफ 1999) की धारा 10 
(4) और 11 (1) के तहत जारी किया गया है।         
      
 
लेखक जाने -माने टैक्‍स एक्‍सपर्ट और  taxindiaonline.com में एडिटर-इन-चीफ हैं 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY