Home »Personal Finance »Insurance »Update» Insurance Premiums Up 20%

स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम होगा 20% तक महंगा

स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम होगा 20% तक महंगा

क्या है एक्चुरियल वैल्यूएशन
बीमा में जोखिम के उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर गणितीय गणना के माध्यम से प्रीमियम तय करने की प्रक्रिया को एक्चुरियल वैल्यूएशन कहते हैं। जोखिम के आधार पर ही बीमा पॉलिसी का प्रीमियम तय किया जाता है।

स्वास्थ्यबीमा का प्रीमियम 20 फीसदी तक बढ़ सकता है। सरकारी क्षेत्र की साधारण बीमा कंपनी स्वास्थ्य बीमा का प्रीमियम बढ़ाने के लिए एक्चुरियल  वैल्यूएशन कर रही है। कंपनी जल्द ही प्रीमियम बढ़ाने की अनुमति के लिए स्वास्थ्य बीमा उत्पाद को बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) के पास फाइल करेगी।

ओरिएंटल इंश्योरेंस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने'बिजनेस भास्कर'को बताया कि पिछले छह वर्षों से स्वास्थ्य बीमा के प्रीमियम में वृद्धि नहीं हुई है वहीं, मेडिकल पर आने वाले खर्च और दूसरी लागत में लगातार वृद्धि हो रही है।

स्वास्थ्य बीमा का प्रीमियम बढ़ाने के लिए हम एक्चुरियल  वैल्यूएशन कर रहे हैं। इसके बाद उत्पादों को इरडा के पास फाइल किया जाएगा। एकल स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी का प्रीमियम बढ़ाने के लिए इरडा की अनुमति लेनी होती है।


अधिकारी के मुताबिक स्वास्थ्य बीमा कारोबार में नुकसान को देखते हुए समूह स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम में 10 से 20 फीसदी तक वृद्धि की गई है। वित्त मंत्रालय के निर्देश के बाद सरकारी बीमा कंपनियों में एक दूसरे के ग्राहक हथियाने की होड़ पर अंकुश लगा है। इस वजह से समूह स्वास्थ्य बीमा में कॉरपोरेट ग्राहकों से तार्किक प्रीमियम लेने पर जोर दिया जा रहा है।

स्वास्थ्य बीमा कारोबार में नुकसान कम करने के लिए सरकारी बीमा कंपनियों ने एजेंटों के कमीशन के स्ट्रक्चर में भी बदलाव किया है। इसके तहत 25 से 35 वर्ष आयु वर्ग के ग्राहकों को पॉलिसी बेचने पर 15 फीसदी कमीशन और वरिष्ठ नागरिकों को पॉलिसी बेचने पर 5 फीसदी कमीशन दिया जा रहा है।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY