Home »Personal Finance »Insurance »Update» Health Insurance Is Expensive By 15 Per Cent

हेल्थ बीमा होगा 15 फीसदी तक महंगा

हेल्थ बीमा होगा 15 फीसदी तक महंगा

स्वास्थ्य बीमा पर नए नियमों के तहत उत्पाद फाइल कर रही हैं बीमा कंपनियां

बदलाव
नए नियमों के तहत फाइल किए जा रहे उत्पादों में जेंडर सहित कई आधारों पर तय किया जा रहा है प्रीमियम
स्वास्थ्य बीमा उत्पादों का प्रीमियम अब से सेगमेंट के आधार पर किया जाएगा रिव्यू
आजीवन रिन्यूअल
हेल्थ बीमा के नए नियमों के तहत अब जीवन भर स्वास्थ्य कवरेज देने से इनकार नहीं कर सकती हैं बीमा कंपनियां

स्वास्थ्यबीमा प्रीमियम 15 फीसदी तक बढ़ सकता है। स्वास्थ्य बीमा पर नए नियमों के तहत उत्पाद फाइल कर रही बीमा कंपनियां अपने उत्पादों में इस तरह के प्रावधान कर रही हैं।

निजी क्षेत्र की साधारण बीमा कंपनी बजाज ऑलियांज जनरल इंश्योरेंस के हेड (हेल्थ इंश्योरेंस) सुरेश सुगाथन ने 'बिजनेस भास्कर' को बताया कि नए नियमों के तहत बीमा विनियामक एवं विकास प्राधिकरण (आईआरडीए) ने लोडिंग पर रोक लगा दी है।

इसका मतलब यह है कि बीमा कंपनियां क्लेम ज्यादा आने पर हर वर्ष प्रीमियम नहीं बढ़ा सकती हैं। ऐसे में बीमा कंपनियां उत्पाद फाइल करते समय ही प्रीमियम इस तरह से तय कर रही हैं कि हर वर्ष लोडिंग की जरूरत ही न पड़े।

सुगाथन का कहना है कि नए नियमों के तहत फाइल किए जा रहे उत्पादों में जेंडर सहित कई आधारों पर प्रीमियम तय किया जा रहा है। उदाहरण के लिए अगर कोई महिला 50 वर्ष से अधिक उम्र की है तो उसका प्रीमियम कम होगा। इसके अलावा, स्वास्थ्य बीमा उत्पादों का प्रीमियम सेगमेंट के आधार पर रिव्यू किया जाएगा।

अगर किसी सेगमेंट में नुकसान ज्यादा हो रहा है तो उस सेगमेंट में प्रीमियम बढ़ाया जाएगा, न कि हर सेगमेंट में। स्वास्थ्य बीमा के नए नियमों के तहत अब बीमा कंपनियां जीवन भर स्वास्थ्य कवरेज देने से इनकार नहीं कर सकती हैं। पहले बीमा कंपनियां कोई अधिकतम उम्र तय करती थीं।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY