OTHER
Home » Do You Know » Other »What's Funds
Jim Cramer
दुनिया में डर कर किसी ने एक चवन्नी भी नहीं कमाई।
क्या है फंड आईपीओ

क्या फंड आईपीओ और स्टॉक आईपीओ में कोई अंतर होता है? म्यूचुअल फंड आईपीओ को स्टॉक आईपीओ जैसा ही मान लिया जाता है। लेकिन दोनों में कई बुनियादी अंतर हैं। स्टॉक की कीमतें सघ्लाई और डिमांड पर निर्भर करती हैं।


स्टॉक आईपीओ प्रीमियम पर सूचीबद्ध होते हैं क्योंकि जब यह खुलता है तो इसकी मांग ज्यादा होती है। लेकिन म्यूचुअल फंड के आईपीओ के साथ ऐसा नहीं होता है।


यहां निवेश के समय एक अलग यूनिट खोली जाती है और रिडेंम्घ्शन के समय इसे खत्म कर दिया जाता है। इस तरह देखा जाए तो म्यूचुअल फंड यूनिटों की सघ्लाई निर्बाध होती है और इसलिए फंड की मांग में इजाफे की वजह से एनएवी की वैल्यू नहीं बढ़ती।


फंड के मामले में आपका रिटर्न आपके फंड मैनेजर के निवेश फैसले पर निर्भर करता है। निवेशकों को यह समझना चाहिए कि फंड आईपीओ का इस्तेमाल निवेशकों के बीच उत्साह पैदा करने के लिए किया जाता है।


एएमसी आईपीओ लाने के समय इस संबंध में काफी प्रचार-प्रसार करते हैं। इसलिए म्यूचुअल फंड में निवेश करने वाले निवेशकों को उनकी सूचनाओं का सावधानी से विश्लेषण करना चाहिए। इसके बाद निवेशकों को फंड खुलने के समय ही निवेश करना चाहिए और इसी हिसाब से आगे भी खरीदारी करनी चाहिए। इसलिए अच्छा यही होता है कि आप फंड आईपीओ से दूर ही रहें।

  
KHUL KE BOL(Share your Views)
 
Email Print Comment