UPDATE
Home » Loans » Update »Take Advantage Of The Rise In Deposit Rates
Peter Drucker
मुनाफा किसी कंपनी के लिए उसी तरह है जैसे एक व्यक्ति के लिए ऑक्सीजन।
जमा दरों में हुई बढ़ोतरी का उठाएं लाभ
पिछले कुछ दिनों में सरकारी और निजी बैंकों ने फिक्स्ड डिपोजिट की ब्याज दरों में अच्छी-खासी बढ़ोतरी की है। अल्पावधि और दीर्घावधि दोनों लिहाज से अब ये ज्यादा आकर्षक हो गए हैं। बैंकों के फिक्स्ड डिपोजिट न्यूनतम आयकर वर्ग में आने वाले और वरिष्ठ नागरिकों के लिए फायदे का सौदा है वहीं उच्च कर वर्ग में आने वाले निवेशकों के लिए करपश्चात रिटर्न के नजरिये से म्यूचुअल फंडों के फिक्स्ड मैच्योरिटी प्लान या 5 वर्ष से अधिक अवधि वाले टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपोजिट बेहतर हैं।

पिछले 15 दिनों में सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के अधिकांश बैंकों ने फिक्स्ड डिपोजिट की ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है। एक से दो साल की अवधि के लिए निजी क्षेत्र के बैंक 9 फीसदी तक की ब्याज दरों की पेशकश कर रहे हैं। अभ्युदय को-ऑपरेटिव बैंक, लक्ष्मी विलास बैंक और महिंद्रा फाइनैंस जहां 9 फीसदी ब्याज दे रहे हैं वहीं तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक, करूर वैश्य बैंक, सिटी यूनियन बैंक, कर्णाटक बैंक और स्टेट बैंक ऑफ पटियाला एक से दो साल की सावधि जमा पर 8.50 प्रतिशत ब्याज दे रहे हैं। आईडीबीआई बैंक, सिंडिकेट बैंक, इंडियन बैंक और इंडियन ओवरसीज बैंक इसी अवधि के लिए 8.25 प्रतिशत (स्रोत-अपनापैसा डॉट कॉम) का ब्याज दे रहे हैं।

चार्टर्ड अकाउंटेंट, सर्टिफायड फाइनैंशियल प्लानर और फिन केयर कंसल्टिंग के चीफ कोच अर्णव पंड्या कहते हैं कि न्यूनतम आयकर वर्ग में आने वाले व्यक्ति दीर्घावधि के बैंक फिक्स्ड डिपोजिट में निवेश करने पर विचार कर सकते हैं। अधिकांश बैंक 5 साल से अधिक अवधि के फिक्स्ड डिपोजिट पर 8.50 प्रतिशत का ब्याज दे रहे हैं। ब्याज दरों में बढ़ोतरी का यह सिलसिला ज्यादा दिनों तक नहीं चलने वाला इसलिए अल्पावधि की जगह दीर्घावधि में उच्च ब्याज दर का लाभ उठाना चाहिए। अपनापैसा डॉट कॉम के चीफ एक्जीक्यूटिव ऑफिसर हर्ष रूंगटा के अनुसार, उच्च कर वर्ग में आने वालों के लिए कम अवधि का फिक्स्ड डिपोजिट एक बेहतर विकल्प नहीं कहा जा सकता। इसे एक उदाहरण के जरिए समझा जा सकता है।

अगर आप 12 महीनों के लिए 50,000 रुपये का निवेश करते हैं और कोई बैंक इस पर 8 प्रतिशत की वार्षिक दर से रिटर्न देता है तो इसका मतलब हुआ कि आपकी 50,000 रुपये की जमा धन राशि आपको 4,000 रुपये का रिटर्न देगी। अगर आप आयकर देते हैं तो करपश्चात आपको क्रमश: 2,764 रुपये, 3,176 रुपये या 3,588 रुपये मिलेंगे यदि आप क्रमश: 30.90', 20.60' या 10.30' के कर दायरे में आते हैं। अगर आप इसी राशि का निवेश एफएमपी में करते हैं और फंड हाउस आपके जैसे कई निवेशकों से बचत संचित कर इसे वापस उसी बैंक में या समान अवधि वाली किसी अन्य सुरक्षित योजना में निवेश करता है तो उन्हें 8.50 प्रतिशत की दर से रिटर्न मिलता है। जिसका मतलब है कि वे आपके धन पर तकरीबन 4,250 का रिटर्न अर्जित करेंगे। इसमें से 0.25प्रतिशत फंड मैनेजमेंट चार्ज घटाने के बाद रिटर्न 4,125 रह जाएगा, जो अब भी आपके द्वारा निवेशित धन पर प्राप्त रिटर्न से किसी भी हाल में ज्यादा होगा। कर प्रक्रिया के बाद आपको वास्तविक लाभ का पता चलेगा।

रुंगटा के अनुसार, कहीं भी निवेश करते समय तीन बातों पर गौर करना जरूरी है- रिटर्न, तरलता और सुरक्षा। जहां रिटर्न अधिक होगा वहां सुरक्षा और तरलता कम हो सकती है। हालांकि, एफएमपी स्टॉक एक्सचेंजों पर सूचीबद्ध होते हैं लेकिन इनकी खरीद बिक्री नहीं के बराबर होती है और इसलिए इनमें तरलता काफी कम होती है। लेकिन रिटर्न फिक्स्ड डिपोजिट से कहीं बेहतर होते हैं। दूसरी तरफ, फिक्स्ड डिपोजिट में तरलता होती है लेकिन रिटर्न एफएमपी की तुलना में कम होते हैं लेकिन ये सुरक्षित होते हैं। बढ़ती ब्याज दर के माहौल में उच्च कर वर्ग में आने वाले निवेशक टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपोजिट में निवेश पर विचार कर सकते हैं। अभी 8 साल के टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपोजिट पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 8.7प्रतिशत , ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स 8.50प्रतिशत और आईसीआईसीआई बैंक 8.25प्रतिशत (स्रोत-अपनापैसा डॉट कॉम) के ब्याज की पेशकश कर रहे हैं।

सर्टिफायड फाइनैंशिल प्लानर जितेंद्र सोलंकी के अनुसार, फिक्स्ड डिपोजिट पर बढ़ती जमा दरों का लाभ वैसे निवेशक पूरी तरह उठा सकते हैं जो न्यूनतम कर दायरे में हैं या फिर वरिष्ठ नागरिक हैं। आम तौर पर बैंक फिक्स्ड डिपोजिट पर वरिष्ठ नागरिकों को 0.5 प्रतिशत अधिक ब्याज की पेशकश करते हैं। उन्हें तरलता के साथ बेहतर ब्याज का लाभ मिल सकेगा।

रूंगटा के अनुसार, टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपोजिट के तहत जमा की गई राशि आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत कटौती की श्रेणी में आती है। लेकिन परिपक्वता पर इस पर मिलने वाले ब्याज पर कर लगाया जाता है।
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
6 + 1

 
Email Print Comment