CORPORATE
Home » News Room » Corporate »रूस अंतरिक्ष में फिर भरेगा उड़ान
Ludwig von Mises
फायदा सफल कदमों का भुगतान है,जिसे बिना मूल्यांकन के बताया नहीं जा सकता।

मास्को रूस अंतरिक्ष में दोबारा अपना परचम लहराने के लिए कमर कस रहा है। वह अगले कुछ वर्षों में अंतरिक्ष शोध में भारी निवेश करने जा रहा है। प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव २०१३ से २०२० के बीच अंतरिक्ष उद्योग को फिर से विकसित करना चाहते हैं।


इसके लिए ६८.७१ अरब डॉलर (३.७८ लाख करोड़ रुपये) की योजना को मंजूरी दी गई है। उन्होंने कहा कि हमारा देश अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन, सौर मंडल में चंद्रमा, मंगल और दूसरे ग्रहों के अध्ययन करेगा। इसके अलावा दूरगामी परियोजनाओं में अधिक सक्रियता से हिस्सा लेगा।


कभी सोवियत संघ रहा रूस अमेरिका से अंतरिक्ष अभियानों में अमेरिका को कड़ी टक्कर देता था। विश्व को पहला उपग्रह स्पूतनिक सोवियत संघर ने ही दिलाया। पहला अंतरिक्ष यात्री यूरी गागरिन और पहली महिला अंतरिक्ष यात्री वेलेंतीना तेरेश्कोवा भी रूस से थे। (एजेंसियां)

Email Print Comment