CORPORATE
Home » News Room » Corporate »किंगफिशर की उड़ान अब और डगमगाई
Richard Branson
बिजनेस के मौके बस की तरह हैं जो एक के चले जाने पर दूसरी आ जाती है

लेकिन शेयरों में तेजी
मुंबई - खाड़ी स्थित इतिहाद एयरवेज के साथ 48 फीसदी हिस्सेदारी की बिक्री का करार होने की चर्चाओं से किंगफिशर एयरलाइंस का शेयर भाव मंगलवार को बीएसई में 5 फीसदी के अपर सर्किट को छूकर 15.67 रुपये पर बंद हुआ। (प्रेट्र)

किंगफिशर एयरलाइंस की मुश्किलें घटने के बजाय लगातार बढ़ती ही जा रही हैं। ताजा घटनाक्रम में किंगफिशर एयरलाइंस को लीज पर विमान देने वाली कंपनी के साथ-साथ सर्विस टैक्स विभाग ने भी उसे करारा झटका दिया है।


जहां एक ओर अमेरिका स्थित लीजिंग कंपनी आईएलएफसी ने किंगफिशर एयरलाइंस को पट्टे पर दिए गए चार विमानों को अब वापस ले लिया है, वहीं दूसरी ओर सेवा कर विभाग ने इस एयरलाइंस के एक विमान को जब्त कर लिया है। इस तरह पांच विमान एक ही झटके में किंगफिशर के हाथ से निकल गए हैं।


हालांकि, न तो किंगफिशर और न ही आईएलएफसी (इंटरनेशनल लीज फाइनेंस कॉरपोरेशन) की ओर से अब तक इस बारे में कोई प्रतिक्रिया आई है। सूत्रों ने बताया कि लीज रेंटल अदा न करने के चलते आईएलएफसी ने किंगफिशर एयरलाइंस से चार एयरबस विमानों को अब वापस ले लिया है जो लीज पर दिए गए थे।


इस बीच, सर्विस टैक्स विभाग ने मंगलवार को इस बात की पुष्टि कर दी कि उसने किंगफिशर एयरलाइंस  के एक 'एटीआर विमानÓ को जब्त कर लिया है। इस विभाग का कहना है कि किंगफिशर एयरलाइंस ने 63 करोड़ रुपये के सर्विस टैक्स की अदायगी में डिफॉल्ट किया है।

Email Print Comment