UPDATE
Home » Income Tax » Update »घूमने का आनंद, साथ में टैक्स छूट
Jim Cramer
दुनिया में डर कर किसी ने एक चवन्नी भी नहीं कमाई।

हमें अपने देश के सैर-सपाटे व भ्रमण का आनंद किसी विदेशी जमीन की तरह ही लेना चाहिए। सरकार भी घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देती है और इसलिए उसने लीव ट्रैवल असिस्टेंस (एलटीए) के जरिए कर लाभ भी उपलब्ध कराया है।
आयकर कानून की धारा 10-5 के अनुसार आपके पूर्व या वर्तमान नियोक्ता से प्राप्त एलटीए की रकम कुछ शर्तों को पूरा करने पर छूट पाने की हकदार है। यानी कि यह लाभ उन्हीं को ही मिलेगा जो नौकरीपेशा हैं और जिन्हें अपने नियोक्ता से एलटीए मिलता है। अर्थात स्वरोजगारी करदाताओं को यह लाभ नहीं मिलेगा।


एलटीए की छूट का दावा दो हालातों में किया जा सकता है। पहला आप वर्तमान नियोक्ता के यहां नौकरी कर रहे हैं और आप अवकाश पर देश के किसी हिस्से में जाने वाले हैं। दूसरे हालात में तब आप एलटीए ले सक ते हैं जब आप नौकरी से रिटायरमेंट या बर्खास्तगी के बाद किसी स्थान की यात्रा करना चाहते हैं। रिटायरमेंट का लाभ आपको हर उस समय मिल सकता है जब आप एक नौकरी छोड़कर दूसरी जगह जा रहे हों।


कहां खर्च करें एलटीए की रकम : एलटीए की रकम से आप अकेले या अपने परिवार के साथ यात्रा कर सकते हैं। हालांकि अगर आपका परिवार आपके बिना यात्रा करता है तो एलटीए नहीं मिलेगा। आपको यात्रा के दिन अवकाश पर होना चाहिए। अगर आप बिजनेस ट्रिप पर हैं और साथ में अपने जीवन साथी व बच्चे को ले गए  हैं तो आपको एलटीए का लाभ नहीं मिलेगा क्योंकि उन दिनों में आप अवकाश की बजाय ऑफिशियल दौरे पर हैं। एलटीए में परिवार का मतलब पति, पत्नी बच्चे व आपके अभिभावक होते हैं।
जहां तक आयकर कानून का सवाल है तो आपको एलटीए के तहत छूट सिर्फ दो बच्चों पर ही मिलेगी।


इस छूट को लेने की अवधि क्या हो : चार कैलेंडर साल के ब्लॉक में आप एलटीए दो बार ले सकते हैं। इस ब्लॉक की गणना आपकी नौकरी की शुरूआत से नहीं होती, बल्कि यह पूर्व नियत है। जैसे कि मौजूदा ब्लॉक 1 जनवरी 2010 से शुरू हुआ है और यह 31 दिसंबर 2013 को खत्म होगा। अगला ब्लॉक 1 जनवरी 2014 से शुरू हुआ है और यह 31 दिसंबर 2014 को खत्म होगा। और उसके बाद इसी तरह से रहेगा अगला ब्लॉक। अगर आप दोनों लोग नौकरी करते हैं तो आपका परिवार हर साल यात्रा कर सकता है और आप दोनों को दो विभिन्न कैलेंडर साल के लिए हर साल कर लाभ मिल सकता है।


एलटीए/एलटीसी लाभ को कैरी फारवर्ड  करना : जैसे कि आपके इनकम टैक्स रिटर्न के कुछ नुकसान कैरी फारवर्ड किए जा सकते हैं उसी प्रकार एक ब्लॉक में क्लेम न किए गए एलटीए को भी कैरी फारवर्ड कर सकते हैं। अगर कुछ कारणों से 2006-2009 के ब्लॉक के एलटीए को क्लेम न कर पाए हैं तो इसे 4 सालों के अगले ब्लॉक के पहले साल में कैरी फारवर्ड किया जा सकता है। अर्थात 2010 से 2013 के मौजूदा ब्लॉक के एलटीए एरियर को आप कैरी फारवर्ड कर उसे 2014 के कैलेंडर साल में क्लेम कर सकते हैं, उससे 2014-2014 के चार सालों के ब्लॉक के लाभ को हासिल करने में कोई असर नहीं पड़ेगा।


आपको कितनी रकम की छूट मिल सकती है : कर लाभ भारत में सफर करने के लिए सिर्फ ट्रांसपोर्टेशन की लागत पर उपलब्ध है। यह होटल या भोजन के खर्च या फिर भ्रमण के व्यय में नहीं मिलता। अगर आप विदेशी दौरे पर जा रहे हैं तो आप अपने शहर से उस जगह के बीच का किराया-आने-जाने का क्लेम कर सकते हैं। इसकी सीमाएं कुछ इस प्रकार हैं:


कागजात जो आपको सुरक्षित रखने हैं: आयकर लाभ क्लेम करने के लिए आपको टिकट सुरक्षित रखना है। अगर आपने कोई कार किराए पर ली है तो ट्रैवल एजेंसी या कार रेंटल एजेंसी की रसीद या इनवॉयस वैध सबूत माना जाएगा।
तो फिर अवकाश का सीजन नजदीक है और कैलेंडर साल भी खत्म होने की ओर बढ़ रहा है तो आप भी तैयार हो जाइए एलटीए का लाभ व आयकर छूट दोनों का लाभ उठाने के लिए।
बलवंत जैन - लेखक अपनापैसा डॉट कॉम के सीएफओ हैं।

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
3 + 8

 
Email Print Comment