LATEST NEWS
Home » Property » Latest News »पूछताछ के बावजूद एनसीआर में रीसेल प्रोपर्टी कारोबार मंदा
Warren Buffett
नियम नंबर एक: पूंजी को खोना नहीं चाहिए, नियम नंबर दो: पहले नियम को ना भूलें।
पूछताछ के बावजूद एनसीआर में रीसेल प्रोपर्टी कारोबार मंदा

क्यों घटी मांग - रीसेल प्रोपर्टी की खासियत रेडी टू मूव है लेकिन अधिक लाभ के लिए ग्राहक नए प्रोजेक्ट्स में निवेश अधिक करते हैं। त्योहारी सीजन में भी रीसेल प्रोपर्टी की मांग अनुमान से 80 फीसदी कम रही। रेडी टू मूव कैटेगरी में ग्राहकों के लिए रीसेल प्रोपर्टी प्राथमिकता पर होती है, लेकिन दिल्ली के अधिकतर इलाकों में प्रोपर्टी की रीसेल कीमत ज्यादा है।


एसोचैम की राय - कुछ दिनों पहले एसोचैम की रिपोर्ट में कहा गया था कि रीसेल प्रोपर्टी की बिक्री में गिरावट आई है। एनसीआर में रीसेल प्रोपर्टी में निवेश करने वालों की संख्या घटी है। लेकिन बिल्डर्स का कहना है कि उनके पुराने प्रोजेक्ट्स में ग्राहकों की पूछताछ 25 फीसदी तक बढ़ी है।

त्योहारी सीजन में बिल्डर्स के नए प्रोजेक्ट्स में अनुमान के मुताबिक कारोबार नहीं होने के साथ ही दिल्ली-एनसीआर में प्रोपर्टी के रीसेल कारोबार में भी मंदी दर्ज की गई है।


पिछले कुछ महीनों में रीसेल प्रोपर्टी के लिए निवेशकों की पूछताछ में वृद्धि का रुख रहा है लेकिन नए प्रोजेक्ट्स में रूचि अधिक होने की वजह से इसके कारोबार में कमी आई है। प्रोपर्टी डीलर्स के मुताबिक रीसेल प्रोपर्टी की कीमतें अधिक होने की वजह से ग्राहक नए प्रोजेक्ट्स की ओर रुख कर जा रहा है। हालांकि, बिल्डर्स का कहना है कि उनके पुराने प्रोजेक्ट्स में भी प्रोपर्टी की पुन: बिक्री के लिए ग्राहकों की पूछताछ 25 फीसदी तक बढ़ी है।


एकनॉन समूह के एमडी कुशाल देव राठी ने बताया कि बाहर से आने वाले ग्राहकों की वजह से रीसेल प्रोपर्टी का बिजनेस बढ़ रहा है क्योंकि इन लोगों को रेडी टू मूव जैसे घरों की मांग ज्यादा रहती है। हालांकि, इनके दाम नए लॉन्च किए जा रहे प्रोजेक्ट्स की तुलना में अधिक होते हैं। रीसेल प्रोपर्टी की सबसे बड़ी खासियत रेडी टू मूव है।


लेकिन अधिक लाभ के लिए ग्राहक नए प्रोजेक्ट्स में निवेश अधिक कर रहे हैं। त्योहारी सीजन के दौरान भी रीसेल प्रोपर्टी की मांग अनुमान से 80 फीसदी तक कम रही। डीलर्स के मुताबिक रेडी टू मूव कैटेगरी में घरों की तलाश करने वाले ग्राहकों के लिए रीसेल प्रोपर्टी प्राथमिकता पर होती है, लेकिन दिल्ली के अधिकांश इलाकों में प्रोपर्टी की रीसेल कीमतें बहुत अधिक हैं।


विजय नगर के गुरुनानक प्रॉपर्टीज के सन्नी अरोड़ा ने बताया कि नए लॉन्च होने वाले प्रोजेक्ट्स की तुलना में दिल्ली के आवासीय इलाकों में घरों की कीमतें ज्यादा हैं। इस कारण ग्राहकों की ओर से रीसेल प्रोपर्टी के लिए पूछताछ तो की जाती है लेकिन उनका रुख नए प्रोजेक्ट्स की ओर ज्यादा रहता है। तिलकनगर में प्रोपर्टी डीलिंग का काम करने वाले हरीश कुमार का कहना है कि ग्राहक रीसेल के लिए पूछताछ तो करते हैं लेकिन कीमतों में तेजी के कारण सौदा नहीं हो पा रहा है।


एसोचैम की एक रिपोर्ट के मुताबिक भी रीसेल प्रोपर्टी के बिजनेस में गिरावट दर्ज की गई है। रिपोर्ट के मुताबिक एनसीआर में बहुत कम प्रोपर्टी की पुन:बिक्री दर्ज की गई है। इससे पता चलता है कि एनसीआर में रीसेल प्रोपर्टी में निवेश करने वालों की संख्या में कमी आ रही है।

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
8 + 8

 
Email Print Comment