MARKET
Home » Experts » Market »Crude Oil Investments Can Earn Profit
Benjamin Graham
शेयर बाजार में लोग सीखते कुछ नहीं,भूल सब कुछ जाते हैं।
क्रूड ऑयल में निवेश से कमा सकते हैं लाभ

क्रूड ऑयल से कमाई
सर्दियों में क्रूड ऑयल की खपत में बढ़ोतरी के चलते इसकी मांग में तेजी के कारण कीमतों में लगातार उछाल दर्ज किया जा रहा है


एमसीएक्स पर क्रूड ऑयल के जनवरी वायदा का भाव एक दिसंबर को 4,905 रुपये प्रति बैरल के स्तर पर था जो शुक्रवार को 5,010 रुपये प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच गया


एक दिसंबर को क्रूड ऑयल का हाजिर भाव 4,848 रुपये प्रति बैरल के स्तर पर दर्ज किया गया था जो शुक्रवार को 4,984 रुपये प्रति बैरल के स्तर पर बंद हुआ

घरेलू बाजार में सर्दियों में क्रूड ऑयल की खपत में बढ़ोतरी के चलते इसकी मांग में तेजी के कारण कीमतों में लगातार उछाल दर्ज किया जा रहा है। वायदा कारोबार में निवेश करने वाले निवेशकों के लिए क्रूड ऑयल में निवेश फायदेमंद हो सकता है। दूसरी ओर चीन, अमेरिका व जापान में सकारात्मक आर्थिक आंकड़ों के संकेतों से वैश्विक स्तर पर भी इसकी मांग में बढ़ोतरी होने के संकेत हैं।


साथ ही क्रूड ऑयल की इन्वेंट्री भी लगातार घट रही है। जानकारों के मुताबिक दिसंबर माह में घरेलू बाजार में क्रूड ऑयल की कीमतों में 3-4 फीसदी का उछाल रहा है। इसलिए निवेशक वायदा कारोबार में क्रूड ऑयल में खरीद कर मुनाफा कमा सकते हैं।


घरेलू मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) पर क्रूड ऑयल के जनवरी वायदा अनुबंध में तेजी का रुख दर्ज किया गया। पिछले 28 दिन में क्रूड ऑयल की कीमतों में 105 रुपये प्रति बैरल की तेजी दर्ज की गई है।


एमसीएक्स पर क्रूड ऑयल के जनवरी वायदा का भाव एक दिसंबर को 4,905 रुपये प्रति बैरल के स्तर पर था जो शुक्रवार को 5,010 रुपये प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच गया। हाजिर बाजार में भी क्रूड ऑयल की कीमतों में 136 रुपये प्रति बैरल की तेजी दर्ज की गई है। एक दिसंबर को क्रूड ऑयल का हाजिर भाव 4,848 रुपये प्रति बैरल के स्तर पर दर्ज किया गया था जो शुक्रवार को 4,984 रुपये प्रति बैरल के स्तर पर बंद हुआ।


इंडियाबुल्स कमोडिटीज के असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट (रिसर्च-कमोडिटीज) बदरुद्दीन ने बताया कि वैश्विक स्तर पर क्रूड ऑयल की इन्वेंट्री कम होने के कारण कीमतों में तेजी का रुख जारी रहने के संकेत हैं।


गुरुवार को एपीआई की ओर से जारी इन्वेंट्री भी घटकर आई हैं। उन्होंने बताया कि पिछले सप्ताह की तुलना में क्रूड ऑयल की इन्वेंट्री 11.7 लाख बैरल कम दर्ज की गई है। जो कि पिछले 9 माह के निचले स्तर पर दर्ज की गई है। इसके अलावा एनर्जी इंफोर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन की ओर से शुक्रवार को जारी होने वाली इन्वेंट्री भी 17.5 लाख बैरल कम होने का अनुमान है। इसे देखते हुए क्रूड ऑयल की कीमतों में लगातार उछाल दर्ज किए जाने के संकेत हैं।


उन्होंने बताया कि चीन व अमेरिका के सकारात्मक आंकड़ों के कारण भी क्रूड ऑयल की कीमतों में तेजी को समर्थन मिल सकता है। दूसरी ओर जापान की ओर से आर्थिक आंकड़ों में सुधार के लिए उठाए जाने वाले कदमों से भी क्रूड ऑयल की मांग में तेजी से वृद्धि होने की संभावना है। वैश्विक स्तर पर क्रूड ऑयल की मांग बढऩे तथा इसकी इन्वेंट्री में कमी आने के संकेतों से इसकी कीमतों में तेजी आने की उम्मीद है।


इसलिए घरेलू बाजार में निवेशकों को वर्तमान भावों पर (4,990-5,000) निवेश से लाभ हो सकता है। बदरुद्दीन के मुताबिक क्रूड ऑयल में निवेश 5,125 रुपये के टारगेट प्राइस पर किया जा सकता है।


कर्वी कॉमट्रेड की विश्लेषक शिखा मित्तल ने बताया कि घरेलू स्तर पर विंटर सीजन में क्रूड ऑयल की खपत ज्यादा होने के कारण कीमतों में तेजी का रुख रहता है। इस कारण फिलहाल कीमतों में तेजी जारी रहने के संकेत हैं। जिसे देखते हुए निवेशक क्रूड ऑयल में वायदा अनुबंधों में खरीद से लाभ कमा सकते हैं। उन्होंने भी अमेरिका के सकारात्मक आर्थिक आंकड़ों के कारण क्रूड ऑयल की मांग वैश्विक स्तर पर बढऩे की बात कही है। जबकि इन्वेंट्री कम होने के कारण कीमतों में तेजी को बल मिल सकता है।


उन्होंने बताया कि घरेलू बाजार में दिसंबर महीने में अब तक क्रूड ऑयल की कीमतों में 3-4 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। जो कि अच्छा उछाल कहा जा सकता है। आने वाले दिनों में इसकी मांग और बढऩे के कारण कीमतों में तेजी लगातार जारी रहने की संभावना है। इसलिए निवेशक क्रूड ऑयल के वायदा अनुबंधों में खरीद कर मुनाफा कमा सकते हैं।


घरेलू बाजार में सर्दियों में क्रूड ऑयल की खपत में बढ़ोतरी के चलते इसकी मांग में तेजी के कारण कीमतों में लगातार उछाल दर्ज किया जा रहा है।
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
10 + 5

 
Email Print Comment