AGRI
Home » Market » Commodity » Agri »Record Wheat Production Third Year
Jim Cramer
काश! पैसे पेड़ पर उगते लेकिन पैसा कमाने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है।

लगातार तीसरे साल रिकॉर्ड गेहूं उत्पादन का अनुमान

बिजनेस भास्कर नई दिल्ली | Jan 10, 2013, 02:21AM IST

बढ़ोतरी
गेहूं उत्पादन 940 लाख टन से ज्यादा होने की उम्मीद
अब तक गेहूं की बुवाई बढ़कर 286.38 लाख हैक्टेयर में

चालू रबी सीजन में गेहूं के बुवाई क्षेत्रफल में बढ़ोतरी और अनुकूल मौसम के कारण लगातार तीसरे साल गेहूं के रिकॉर्ड उत्पादन का अनुमान है। वर्ष 2011-12 में गेहूं का उत्पादन 939 लाख टन हुआ था जो 2012-13 में 940 लाख टन के पार होने की संभावना है। वर्ष 2010-11 में भी 868 लाख टन गेहूं का उत्पादन किया गया था।

कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बिजनेस भास्कर से बातचीत में कहा कि अभी तक के मौसम को देखते हुए इस साल भी गेहूं की रिकॉर्ड पैदावार होने का अनुमान है।

चालू रबी सीजन में गेहूं के बुवाई क्षेत्रफल में भी बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। कृषि विभाग के ताजा आंकड़ों के अनुसार चालू रबी में अब तक गेहूं की बुवाई बढ़कर 286.38 लाख हैक्टेयर में हो चुकी है जबकि पिछले साल इस समय तक 281.80 लाख हैक्टेयर में गेहूं की बुवाई हुई थी। अभी तक मौसम भी फसल के अनुकूल है।

ऐसे में चालू रबी में गेहूं की लगातार तीसरे साल रिकार्ड पैदावार होने का अनुमान है। केंद्रीय पूल में गेहूं का भारी भरकम स्टॉक मौजूद है। पहली अप्रैल से गेहूं की सरकारी खरीद भी शुरू हो जायेगी। चालू रबी विपणन सीजन में गेहूं की सरकारी खरीद पिछले साल के 380.23 लाख टन से बढऩे का अनुमान है। एक अप्रैल से गेहूं की नई फसल की आवक शुरू हो जायेगी।

अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में मौसम गेहूं और जौ की फसल के लिए अच्छा है। लेकिन कुछ अन्य फसलों पर इसका विपरीत असर देखने को मिल सकता है। उन्होंने बताया कि चालू मौसम को देखते हुए यदि पाला पडऩे की स्थिति आती है तो यह सरसों की फसल के लिए नुकसानदायक होगी।

आपकी राय

 

चालू रबी सीजन में गेहूं के बुवाई क्षेत्रफल में बढ़ोतरी और अनुकूल मौसम के कारण लगातार तीसरे साल गेहूं के रिकॉर्ड उत्पादन का अनुमान है।

Email Print Comment