UPDATE
Home » Financial Planning » Update »Insert From The Start The Savings Habit In Children
Peter Drucker
मुनाफा किसी कंपनी के लिए उसी तरह है जैसे एक व्यक्ति के लिए ऑक्सीजन।

शुरू से ही डालें बच्चों में बचत की आदत

स्टीवन फर्नांडिस | Feb 02, 2013, 01:21AM IST
शुरू से ही डालें बच्चों में बचत की आदत

बच्चे की हर जिद पूरी करना उसे बिगाडऩे जैसा है। समस्या तब ज्यादा बढ़ जाती है जब बच्चे को जरूरत से ज्यादा दिया जाता है
बच्चे को शुरू से ही बचत और उसके महत्व के बारे में समझाया जाना चाहिए। इसके लिए उसे एक गुल्लक दें और उसमें बचत की आदत डलवाएं
बच्चे को यह समझाना होगा कि हर एक पैसा जो वह काम करके अपने बैंक में डालेगा उससे खिलौना खरीदने की संभावना बढ़ जाएगी और इसमें आप भी उसकी मदद करेंगे

छह साल के बच्चे आशीष ने अपने जीवन के शुरुआती सालों में ही ब्लैकमेल करने की आदत डाल ली है। वह अपनी मांगे काफी आसानी से पूरी करवा लेता है। अगर ऐसा न हो तो वह फर्श पर लेट जाता है और अपने माता-पिता को शर्मिंदा करने लगता है।

आशीष के माता पिता (32 वर्ष) स्मिता और आशुतोष (35) कामकाजी दंपत्ति हैं और उन्होंने आशीष की देख-रेख के लिए एक फुल टाइम नौकरानी रखी है। यह जोड़ा अपने बच्चे आशीष के साथ पर्याप्त समय नहीं बिता पाता है। इस वजह से वह जो भी मांगता है उसे हर वो चीज उपलब्ध कराई जाती है।

छह साल के बच्चे को इस उम्र में दुनिया की कई सारी जानकारियां हैं जो हममें से बहुत लोगों के पास नहीं होगी। अपने बच्चे की हर मांग पूरी कर देना माता-पिता को हर लिहाज से आसान लगता है क्योंकि इससे शांति बनी रहेगी।

ऐसा देखा गया है कि बहुत से बच्चों को तो थोड़ी दूर तक भी पैदल जाना पसंद नहीं है। इसके लिए भी उन्हें ऑटो या रिक्शा की जरूरत पड़ती है। हालांकि, दोष उन्हें क्यों देना? माता-पिता के तौर पर इसके लिए जिम्मेदार हम ही हैं। बच्चों में अगर कोई भी दिक्कत आती है तो इसकी जिम्मेदारी माता-पिता की है।

क्या हमने कभी बच्चों को उनकी भाषा में यह समझाया कि पैसा कमाकर घर कैसे चलाया जाता है? क्या हमने कभी भी उन्हें बचत का महत्व समझाने की कोशिश की और खर्च के बारे में बताया? अपने बच्चों को यह समझाने के लिए किसी व्यक्ति का फाइनेंशियल गुरु होना जरूरी नहीं है।  मैं आपको कुछ ऐसे उपाय बताऊंगा जिससे आप अपने बच्चों में बचत की आदत डाल सकते हैं।

पहले बचत करें फिर खरीदें
बचपन में बच्चों के लिए खिलौने खरीदना किसी माता-पिता के लिए बिलकुल आम बात है। समस्या तब आती है जब बच्चे को जरूरत से ज्यादा दिया जाता है। ज

ब आपका बच्चा आपसे कुछ मांगता है तो आपको उसे आराम से समझाना चाहिए कि उसे भी खिलौने के लिए ठीक वैसे ही कमाना होगा जैसा आप करते हैं। अगर उस खिलौने की कीमत 200 रुपये है तो आपको उसके पिग्गी बैंक में 200 रुपये का टैग लगा देना चाहिए।

बच्चे को यह समझाना होगा कि हर एक पैसा जो वह काम करके अपने बैंक में डालेगा उससे खिलौना खरीदने की संभावना और बढ़ जाएगी और इसमें आप भी उसकी मदद करेंगे। उसे कभी पांच रुपये या कभी दस रुपये देंगे जिसे वह अपने पिग्गी बैंक में डाल सकता है।

आपको बच्चे के लिए एक छोटी डायरी भी रखनी चाहिए। उसने जो भी राशि जमा की है, उसे इस डायरी में लिख दीजिए। आप इसके लिए अपने बच्चे से आसान काम करवाएं।

उससे खिलौने ठीक से रखने को कहें, पानी का ग्लास मांगे। आप उसे समझाने की कोशिश करें कि आप काम करके पैसे कमाते हैं। जब पिग्गी में जरूरत भर की राशि जमा हो जाए तो अपने बच्चे से कहिए कि वह उससे खिलौना खरीदे।

अगर आप उसका जन्मदिन मनाने की सोच रहे हैं तो आप एक बड़ा पिग्गी बैंक लाकर पहले से इसकी प्लानिंग करें। इससे आपके बच्चे को यह बात समझ आ जाएगी कि जन्मदिन का खर्च बड़ा है तो इसके लिए ज्यादा पैसे बचाने होंगे। इसी तरह आप अलग-अलग साइज के पिग्गी  बैंक ला सकते हैं।

उदाहरण के तौर पर आप पिकनिक स्टेशनरी, खिलौने के लिए अलग-अलग पिगी बैंक बना सकते हैं। शुरुआत में बच्चा इसे खेल की तरह लेगा पर बाद में उसे बचत और बजट बनाने का महत्व समझ आ जाएगा।

बच्चे को इनाम दें
एक बार आपके बच्चे को बचत की आदत हो जाए और वह नियमित तौर पर पैसे बचाकर अपना लक्ष्य पूरा कर ले तो आप उसे आइसक्रीम, पसंदीदा चॉकलेट आदि दिलवा सकते हैं।

आप अपने बच्चे को यह दिखाइये कि उसके लक्ष्य पूरा करने से आप कितने खुश हैं। इस मौके पर आप उसे यह भी बताइए कि आपने अपने घर के लिए कैसे टीवी और अन्य सामान खरीदे और इससे आपको कितनी खुशी हुई।

अपने बच्चों में बचत की आदत डालने के लिए माता-पिता को मौके का इंतजार नहीं करना चाहिए। आपको इस तरह की आदत उसमें बचपन से डालनी चाहिए।
- लेखक सर्टिफायड फाइनेंशियल प्लानर और फाइनेंशियल प्लानर्स गिल्ड इंडिया के सदस्य हैं।

आपकी राय

 

छह साल के बच्चे आशीष ने अपने जीवन के शुरुआती सालों में ही ब्लैकमेल करने की आदत डाल ली है।

आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
5 + 9

 
Email Print Comment