AGRI
Home » Market » Commodity » Agri »Expensive And Onion In A Month
Ronald Reagan
लोग कम टैक्स नहीं चुकाते, दरअसल सरकारें खर्च बहुत करती हैं।

अगले एक महीने में प्याज होगी और महंगी

धर्मेन्द्र ङ्क्षसह भदौरिया भोपाल | Aug 13, 2013, 23:59PM IST
अगले एक महीने में प्याज होगी और महंगी

पहली बार मध्य प्रदेश से महाराष्ट्र गई प्याज

महंगाई की मार झेल रहे लोगों को अगले एक महीने तक महंगी प्याज खाने पर विवश होना पड़ेगा। इसका कारण प्याज की उपलब्धता में कमी का होना है। महाराष्ट्र में फसल खराब होने के कारण पहली बार ऐसा हो रहा है कि मध्य प्रदेश से महाराष्ट्र प्याज भेजी जा रही है।

महाराष्ट्र के साथ ही यहां से बैंगलुरू और दिल्ली तक प्याज भेजी जा रही है।
भोपाल में थोक सब्जी विक्रेता कल्याण संघ के अध्यक्ष मोहम्मद इरसाद के मुताबिक ज्यादा बारिश के कारण महाराष्ट्र में होने वाली प्याज की फसल बर्बाद हो गई है इसलिए भावों में तेजी है।

चूंकि प्याज की आपूर्ति बाजार में कम है और उत्पादन भी कम है ऐसे में प्याज के भावों में अगले एक से डेढ़ माह तक किसी प्रकार की नरमी आने की संभावना नहीं है। उन्होंने कहा कि 50 सालों में पहली बार ऐसा हो रहा है कि महाराष्ट्र से आने वाली प्याज इस बार भोपाल और प्रदेश के अन्य जिलों से महाराष्ट्र, कर्नाटक और दिल्ली के लिए भेजी गई है।

महाराष्ट्र में पूना और उसके निकट के जिलों और कर्नाटक में बैंगलुरू के लिए प्याज भेजी गई है। उन्होंने कहा कि जब तक नई फसल नहीं आती, प्याज के भावों में कमी आने की संभावना नहीं है।

एक अन्य व्यापारी मोहम्मद शोएब ने कहा कि नई प्याज दक्षिण में कर्नाटक और नासिक से तो आ रही है लेकिन इसकी मात्रा बहुत कम है, ऐसे में भाव कब तक नीचे आएंगे कहना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि बीते 15 दिना में प्याज के भाव में 20 रुपये किलो का इजाफा हुआ है।

खुदरा भाव तो 55 से 60 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गए हैं, जबकि थोक में अभी 45 से 50 रुपये प्रति किलो का भाव चल रहा है। मध्य प्रदेश में भोपाल, सीहोर के साथ ही मालवा अंचल में इंदौर, सुजालपुर, आष्टा आदि स्थानों पर प्याज की पैदावाद होती है। अकेले भोपाल शहर में ही औसतन 1,250 क्विंटल प्रतिदिन की खपत है।

आपकी राय

 

महंगाई की मार झेल रहे लोगों को अगले एक महीने तक महंगी प्याज खाने पर विवश होना पड़ेगा। इसका कारण प्याज की उपलब्धता में कमी का होना है।

Email Print Comment