CORPORATE
Home » News Room » Corporate »Weekly Review Of Share Market
Warren Buffett
निवेश की दुनिया में भव‍िष्‍य के बजाय अतीत को देखना ज्‍यादा बड़ी समझदारी है।

REVIEW: तीन 'R' के दम पर बदल रही शेयर बाजार की चाल

Agency | Sep 15, 2013, 22:28PM IST
REVIEW: तीन 'R' के दम पर बदल रही शेयर बाजार की चाल
मुंबई: देश के शेयर बाजारों के प्रमुख सूचकांकों सेंसेक्स और निफ्टी में गत सप्ताह दो फीसदी से अधिक तेजी रही। जबकि रियल्टी और पूंजीगत वस्तु सेक्टर में आठ फीसदी से अधिक तेजी रही।
 
बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स गत सप्ताह 2.40 फीसदी या 462.70 अंकों की तेजी बनाकर शुक्रवार को 19,732.76 पर बंद हुआ।
 
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी इसी अवधि में 3.00 फीसदी या 170.20 अंकों की तेजी बनाकर 5,850.60 पर बंद हुआ। गत सप्ताह देश के शेयर बाजारों में सिर्फ चार कारोबारी सत्र संचालित किए गए। सोमवार नौ सितंबर को गणेश चतुर्थी के अवसर पर बीएसई और एनएसई में कारोबारी सत्र संचालित नहीं किया गया।
 
गत सप्ताह सेंसेक्स के 30 में से 25 शेयरों में तेजी रही। एलएंडटी (10.62 फीसदी), टाटा पावर (10.37 फीसदी), महिंद्रा एंड महिंद्रा (7.63 फीसदी), सन फार्मा (6.62 फीसदी) और हीरो मोटोकॉर्प (6.40 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। गिरावट वाले पांच शेयरों में रहे विप्रो (2.79 फीसदी), ओएनजीसी (2.21 फीसदी), आईसीआईसीआई बैंक (1.92 फीसदी), टीसीएस (1.88 फीसदी) और डॉ. रेड्डीज लैब (1.51 फीसदी)।
 
गत सप्ताह बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में तीन फीसदी से अधिक तेजी रही। मिडकैप 3.27 फीसदी तेजी के साथ 5,629.15 पर और स्मॉलकैप 3.10 फीसदी तेजी के साथ 5,509.42 पर बंद हुआ। गत सप्ताह बीएसई के 13 में से 12 सेक्टरों में तेजी रही। रियल्टी (8.85 फीसदी), पूंजीगत वस्तु (8.01 फीसदी), बिजली (5.44 फीसदी), वाहन (5.06 फीसदी) और धातु (3.82 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। एक सेक्टर सूचना प्रौद्योगिकी (0.69 फीसदी) में गिरावट रही।
 
गत सप्ताह के प्रमुख घटनाक्रमों में देश के शेयर बाजारों में मंगलवार को जबर्दस्त तेजी दर्ज की गई। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 727.04 अंकों की तेजी के साथ 19,997.10 पर तथा निफ्टी 216.35 अंकों की तेजी के साथ 5,896.75 पर बंद हुआ और बीएसई के सभी 13 सेक्टरों में तेजी दर्ज की गई।
 
मंगलवार को जारी सरकारी आंकड़े के मुताबिक निर्यात बढ़ने और आयात घटने के कारण अगस्त महीने में देश का व्यापार घाटा घटकर 10.9 अरब डॉलर हो गया, जो जुलाई में 12.27 अरब डॉलर था। देश का निर्यात अगस्त महीने में 12.97 फीसदी बढ़कर 26.13 अरब डॉलर रहा, जबकि आयात आलोच्य महीने में 0.68 फीसदी गिरावट के साथ 37.05 अरब डॉलर रहा, जिसके कारण व्यापार घाटा 10.92 अरब डॉलर रहा।
 
केंद्रीय सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा गुरुवार को जारी बयान के मुताबिक औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में जुलाई 2013 में साल-दर-साल आधार पर 2.6 फीसदी वृद्धि रही। मौजूदा कारोबारी साल में अप्रैल-जुलाई अवधि में औद्योगिक उत्पादन में हालांकि एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले 0.2 फीसदी गिरावट दर्ज की गई।
 
गुरुवार को ही जारी एक अन्य आंकड़े के मुताबिक उपभोक्ता महंगाई दर अगस्त 2013 में गिरावट के साथ 9.52 फीसदी दर्ज की गई, जो जुलाई महीने में 9.64 फीसदी थी। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) पर आधारित उपभोक्ता महंगाई दर (अनुमानित) अगस्त में गांव और शहरों के लिए अलग-अलग क्रमश: 8.93 फीसदी और 10.32 फीसदी रही।
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
3 + 2

 
Email Print Comment