CORPORATE
Home » News Room » Corporate »Know About Ins Vikrant
Henry Ford
ऐसा कारोबार जो सिर्फ पैसा बनाए,वह बेकार है।

31 हजार करोड़ की इस एक भारतीय आफत से हिल गया पूरा पाकिस्तान, देखें PIX

dainikbhaskar.com | Aug 13, 2013, 14:51PM IST
1 of 18

करीब 31 हजार करोड़ की लागत से आईएनएस विक्रांत के तैयार होने के साथ भी भारत दुनिया के उन चुनिंदा देशों में शुमार हो गया है जिसके पास अत्याधुनिक विमान वाहक पोते हैं। इस पोत का निर्माण कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड ने किया है। करीब 40 हजार टन की क्षमता वाले इस विमानवाही पोत के निर्माण का 55 प्रतिशत कार्य इसी शिपयार्ड में पूरा हुआ।

इस पोत को 2018 में नौसेना में शामिल किया जाएगा। इस पर रूस निर्मित मिग-29 के और हल्के लडाकू विमान के नौसैनिक संस्करण (एलसीए), कोमोव 31 हेलीकॉप्टर तैनात किए जा सकेंगे। 265 मीटर लम्बे और 60 मीटर चौडे इस पोत में आठ डीजल से चलने वाले जेनरेटर लगे हैं, जो चार मेगावाट ऊर्जा का उत्पादन कर उसकी ऊर्जा जरूरतो की पूर्ति करेगा।

भारत इस प्रथम स्वदेशी विमानवाहक पोत जलावतरण के बाद विश्व के उन चुनींदा देशों के विशिष्ट समूह में शामिल हो गया है, जिन्हें विमानवाहक पोत के डिजायन, निर्माण और संरचनात्मक कार्यों में तकनीकी विशिष्टता हासिल है।

आगे की स्लाइड पर क्लिक कर तस्वीरों के साथ जानें 31 हजार करोड़ से बनी इस आफत के बारे में सब कुछ.. साथ ही जानें क्या मिलेगा इससे फायदा.. कैसे करेगा ये काम..

ये भी पढ़ें

NEW: जानें, माल्या से लेकर अंबानी-टाटा को हर महीने मिलती है कितनी सैलरी

100 करोड़ की बर्थडे पार्टी में पहुंचा कैट-अक्की सहित आधा बॉलीवुड, देखें PIX

जानें, भारत-पाक के राष्ट्रपति और पीएम को हर महीने मिलती है कितनी सैलरी

इस भारतीय ने किया ऐसा काम कि उस रात शकीरा को करना पड़ा ‘वाका-वाका’

31 हजार करोड़ की इस एक भारतीय आफत से हिल गया पूरा पाकिस्तान, देखें PIX

यहां से हथियार लाता है पाकिस्तान, फिर बॉर्डर पर करता है भारत संग मनमानी

RELATED ARTICLES

Email Print
0
Comment