AUTOMOBILE
Home » Theme » Automobile »डीजल एसयूवी पर 50 हजार अतिरिक्त टैक्स का प्रस्ताव
Peter Drucker
मुनाफा किसी कंपनी के लिए उसी तरह है जैसे एक व्यक्ति के लिए ऑक्सीजन।

डीजल की एसयूवी पर सालाना रोड टैक्स लगाने का प्रस्ताव वित्त मंत्रालय को दिया गया है। ईंधन पर सब्सिडी के बोझ को कम करने के लिए किरीट पारिख ने वित्त मंत्रालय को यह प्रस्ताव दिया है। पारिख ने कहा कि डीजल को बाजार आधारित कर देना चाहिए और सब्सिडी को 9 रुपये प्रति लीटर पर फिक्स कर देना चाहिए।


उन्होंने कहा कि डीजल एसयूवी पर एक बार टैक्स लगाने से बेहतर है कि सालाना रोड टैक्स वसूला जाए। उन्होंने कहा कि सामान्य कारों पर एक बार रोड टैक्स के बजाए सालाना रोड टैक्स का अंतर 10,000 रुपये बैठेगा जबकि डीजल कारों के लिए यह 20,000 रुपये बैठेगा। वहीं, एसयूवी पर यह 50,000 रुपये बैठेगा।


इस संबंध में वित्त मंत्रालय को प्रस्ताव सौंप दिया गया है। वहीं, सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरर्स के वाइस-प्रेसिडेंट विक्रम किर्लोस्कर ने कहा कि मौजूदा समय में वाहनों के बिक्री मूल्य का 45 फीसदी हिस्सा टैक्स में जाता है और इसके बाद अलग से टैक्स लगाए जाने का कोई तर्क नहीं बैठता।

Light a smile this Diwali campaign
आपके विचार
 
अपने विचार पोस्ट करने के लिए लॉग इन करें

लॉग इन करे:
या
अपने बारे में बताएं
 
 

दिखाया जायेगा

 
 

दिखाया जायेगा

 
कोड:
4 + 1

 
Email Print Comment